पंखा-पंखा का आविष्कार किसने किया

पंखा पंखा एक ऐसा उपकरण है जो विधुत तथा बैटरी विधुत की सहायता से और हवाएँ एवं तूफान की तेज हवाओं की सहायता से भी चलता है पंखा का आविष्कार किसने किया देखा जाये तो …

Table of Contents

पंखा

पंखा एक ऐसा उपकरण है जो विधुत तथा बैटरी विधुत की सहायता से और हवाएँ एवं तूफान की तेज हवाओं की सहायता से भी चलता है

पंखा का आविष्कार किसने किया

देखा जाये तो पंखे का इस्तेमाल सन् १८६० से ही किया जाता था जबकि पहले वाले पंखे बिजली से नही पानी से चलते थे in पंखो की कीतम अधिक थी इसके बाद बिजली से चलने वाले पंखे का आविष्कार Schuyler wheeler ने सन् १८८२ में किया

बिजली के पंखे

इन पंखो में बिजली मोटर का उपयोग किया जाता है यह fan इलेक्ट्रोनिक ऊर्जा को मैकेनिकल ऊर्जा में बदलने का कार्य करते है और बिजली से चलने वाले पंखे की प्रकार के होते है इन पंखो का इस्तेमाल घरों, कारखानों आदि स्थानों पर किया जाता है A.C.पंखे, D.C.पंखे आदि बिजली के पंखे है

fan कितने प्रकार के होते है

हम आज आप को बता रहे है कि पंखा(fan) कई प्रकार के होते है ज्यादातर लोग सिलिंग फैन तथा टेबल फैन को ही देखते है क्योंकि यह fan अधिकतर हर घर में मिल जाता है जैसे की सिलिंग फैन छत के ऊपर की और लठका रहता है जबकि टेबल फैन की ऊंचाई लम्बी होती है जिससे हम पर्स पर रखकर चला लेते है, आज हम fan के निम्न प्रकारों की चर्चा करेंगे

Misting(मिस्टिंग)fan

यह एक ऐसा पंखा है जिसके इस्तेमाल से बिजली की बचत या यह fan बिजली बिल भी कम खाता है यह कंडीशनर की तरह अधिक ठंडा नही कर सकता है इस fan कम कीमत में उपलब्ध हो जाता है इस fan के द्वारा एक कमरे की नमी को कम कर सकता है जबकि यह fan तापमान को 15 डिग्री तक कम कर सकता है देखने की तरीके से इतना तापमान कम एक एयर कंडीशनर नही कर सकता है

wall mounted fan(वॉल माउंटेड फैन)

यह एक ऐसा fan है जिसको लोग अधिकतर स्टोर रूम में रखते है और इस fan को कील वैगरह की सहायता से दीवार पर भी ठोक सकते है यह fan 20-25 मीटर तक हवा फेक सकता है जबकि ये fan स्टोर रूम के साथ -साथ आप बसों की सीटों के आस-पास भी लठका मिलता है

attic fan(अटारी फैन)

अटारी फैन का उपयोग ऐसे बड़े स्थानों पर किया जाता है जैसे गोदामों, बड़ी कम्पनियों, कारखानों आदि की छतों पर यह फैन लगा होता है तथा इस fan का उपयोग अधिकतर गर्मियों में किया जाता है यह फैन को कम बिजली की आवश्यकता होती है यह गोदामों की गर्म हवा को बाहर निकल देता है जिससे ठंडी हवा प्रवेश करती है

table fan(टेबल फैन)

यह एक ऐसा fan है जिसे ज्यादातर लोग जानते है यह पंखा अधिक घरों में रहता है इस fan की समस्या यह है कि यह ठंडी हवा नही देता है और जगह भी रोकता है जबकि इस fan को एक जगह से दूसरी जगह रख सकते है यह कम कीमत में उपलब्ध हो जाता है

Exhaust fan(निकास पंखा)

इस फैन को एन्जोस्ट फैन के नाम से भी जाना जाता है यह fan अधिकतर रसोईयों में इस्तेमाल किया जाता है इनकी गति तेज होती है इनका काम अंदर की हवा को बहार निकालना होता है जबकि इनका काम सब्जी तथा फलों की गोदामों में फलों को पकाने में भी उपयोग किया जाता है

पंखा धीमा क्यों चलता है

हम आप को बता दे की बिजली मोटर को घुमने के लिए कम से कम दो पेज की आवश्यकता होती है जबकि घरों में रहने वाले सिलिंग फैन के अंदर कंडेंसर लगा होता है जो सिंगल पेज सप्लाई को डबल पेज सप्लाई में बदल देता है जिससे मोटर तेज घुमने लगती है पंखे का घीमा चलने का कारण कंडेंसर का खराब होना होता है

पंखा क्या काम आता है

पंखो का उपयोग मनुष्य की सुविधा के लिए किया जाता है गर्मियों में गर्म हवा से बचने के लिए ठंडी हवा के लिए पंखो का इस्तेमाल किया जाता है

छत पंखा खरीदते समय रखे बातो का ध्यान

छत fan खरीदते समय ध्यान रखे की पंखो की लोह की डांडी को देकखर खरीदे साथ में ध्यान रखे कि fan हमे ठंडी अव देने वाला होना चाहिए और पंखे के कंडेंसर की समस्या देख ले तेज हवा देने वाला होना चाहिए

conclusion

हम आशा करते है कि यह पोस्ट आपको अच्छी लगी होगी, धन्यवाद

यहाँ भी पढ़े :- चार्जर-चार्जर का आविष्कार,,, Format Painter क्या है

Sharing Is Caring:

1 thought on “पंखा-पंखा का आविष्कार किसने किया”

Leave a Comment