चार्जर-चार्जर का आविष्कार किसने किया

चार्जर क्या है-charger ka aavishkar kisne kiya चार्जर एक प्रकार से USB फीमेल कनेक्टर केबल के रूप में उपलब्ध है जिसकी सहायता से हम मोबाईल बैटरी, ट्रोच बेटरी आदि को हम इस चार्जर की सहायता …

Table of Contents

चार्जर क्या है-charger ka aavishkar kisne kiya

चार्जर एक प्रकार से USB फीमेल कनेक्टर केबल के रूप में उपलब्ध है जिसकी सहायता से हम मोबाईल बैटरी, ट्रोच बेटरी आदि को हम इस चार्जर की सहायता से बेटरी चार्ज के सकते है

चार्जर का आविष्कार किसने और कब किया था(charger ka aavishkar kisne kiya)

चार्जर का आविष्कार सर्वप्रथम सन् 2003 में ओवैन चीनी यान के द्वारा किया गया

बैटरी का आविष्कार किसने किया

आज कल देखते समय में बहुत ज्यादा बेटरी का इस्तेमाल किया जा रहा है जबकि बेटरी विधुत का अच्चा स्रोत है लेकिन इसका उपयोग पावर सेव करके इसका मतबल विधुत एकत्रित करके जिसको लम्बे समय के लिए चलाया जाता है आज कल देखने की तरीके से इसका उपयोग बढ़ता ही जाता है और अब तक बिजली की उपयोगिता बढती ही जा रही है

लोग बिजली की सहायता से अन्य साधनों के लिए बैटरी के अंदर पावर सेव करके उसको लम्बे समय तक चलाया जाता है देखा जाये तो लोग जनरेटर का इस्तेमाल बिजली बिजली के लिए करते है बैटरी के आविष्कार ने एक ऐसी क्रांति लायी है जिसके आविष्कार के बाद ऐसे उपकरण लोंच हो गये है जिनको बैटरी की सहायता से लम्बे समय तक चला सकते है

पहली बैटरी का आविष्कार सन् 1800 में एलोजांद्रो वोल्टा द्वारा बनायी गई थी

मोबाईल चार्जर होता है

मोबाईल चार्जर एक अपचायी ट्रांसफार्मर है

चार्जर क्या है

चार्जर एक ऐसा छोटा सा उपकरण है लेकिन जिसका काम बैटरी में dc करंट देना होता है तथा dc करंट देने के लिए भी किया जाता है ध्यान रखे कि हम बैटरी के अंदर ac करंट को नही रख सकते है

वायरलेस चार्जर क्या होता है

यह एक प्रकार से ऐसा चार्जर होता है जिसके अंदर बिना तारो के पॉवर ट्रांसवर करने की तकनीक है लेकिन जिसके अंदर power transfer करने के लिए magnetic field का उपयोग किया जाता है इसका इतना फायदा है की मोबाईल चार्ज करने के लिए किसी वायर की जरूरत नही पडती है

फ़ास्ट चार्ज कितने वाट का होता है

आज की तरीके से देखा जाये तो चार्जर अलग-अलग वाट के बाजर में उपलब्ध है जैसे कि देखा जाये तो 18 से 20 वाट का चार्जर फ़ास्ट होता है उससे बैटरी जल्दी ही चार्ज हो जाती है

चार्जर लाइट

आज कल के देखने के तरीके से चार्जर लाइट के रूप में LED बल्बों का विकास हुआ है जो भी अलग-अलग वाट की आती है जैसे की हम 9वाट के LED बल्ब को फूल चार्जर कर लेते है तो वह 1घंटे के लगभग जलता है ऐसे कई उपकरण है जो charger की सहायता से चलते है

बैटरी charjr

बैटरी charger एक ऐसा उपकरण या डिवाइज होता है जिसके माध्यम से इलेक्ट्रोसिटी द्वारा बैटरी के चार्जर को restore करता है बैटरी charger देखा जाये तो एक external डिवाइस होते है

जैसे हम देखे तो बैटरी charger का इस्तेमाल हम सबसे ज्यादा हम मोबाईल बैटरी को charger करने में किया जाता है

एक ऐसा automatically recharge डिवाइस mobile battery charger circuit है

जानिये बैटरी charger के प्रकार

आज हम आपको बताये की बैटरी charger application के तरीके(हिसाब) से होती है जैसे की देखा जाये तो Solar Devices के लिए Solar battery Charger का उपयोग करते है और Mobiles को charge करने के लिए mobile phone charger आदि का इस्तेमाल किया जाता है बैटरी कुल प्रकार समझते है

Trickle Charger

Timer based Charger

Simple Charger

Smart or intelligent Charger

Universal battery charger-analyzers

Fast Charger

Inductive Charger

Pulse Charger

Motion-powered chargers.

USB based Charger

Solar Battery Chargers

Electric charges की परिभाषा

इस चार्जर को “c” से दर्शाया जाता है और इसकी इकाई coulomb है जबकि देखा जाये तो रसायन विज्ञान भी फैराडे का उपयोग इलेक्ट्रोनो के एक मोल पर चार्ज के रूप में करता है

मोबाईल कितना चार्जर करता है

आज हम आपको हमारे ज्ञान के मुताबित बता थे कि फोन की बैटरी को 65 से 75 फीसद चार्जर सबसे अच्छा माना जाता है इतना चार्जर होने से फोन की बैटरी लम्बे समय तक चलती है और हम आपको बता थे की फोन को 100 फीसद चार्जर कभी नही करना चाहिए

चार्जर में कौनसा करंट आता है

अधिकतर बैटरी चार्जर करने के लिए चार्जर से dc करंट ही प्राप्त होता है जबकि हमारे घरों के दूसरे उपकरण ac करंट से चलते है

conclusion

हम आशा करते है कि आज की इस charger वाली पोस्ट आपको बहुत अच्छी लगी होगी और आप अपने दोस्तों के भविष्य के लिए अपने दोस्तों के साथ पोस्ट शेयर जरुर करे, धन्यवाद

यहाँ भी पढ़े :-केंचुआ की संरचना राजस्थान के प्रमुख सम्प्रदाय, computer

Sharing Is Caring:

2 thoughts on “चार्जर-चार्जर का आविष्कार किसने किया”

Leave a Comment